A Well Try for Better Possibilities

Keep trying to do better Quotes to live by for a better life,Try not to hurt others. Well, still believe it's up to each person to make the best of life, to keep trying, no matter what.

Hi Everyone, I hope you all are doing well in your life.


 As I told in my first blog, my routine was not very well organized. But now I feel like  she is organizing herself better, due to which I am able to get up early nowadays.  Even though I am not able to do anything productive after getting up, but still I am trying to do something good.

 A great poet of Hindi, Dr. Harivansh Rai Bachchan ji has also said in his poem that "those who try are not defeated."  Although we will not talk on the whole poem, its title itself is making it very clear.
 Now you must be wondering why I am telling you all this, after all, what do you have to do with it.  But it has to do with completely.

 Let me tell you a story .  This afternoon I was talking to a close friend.  He said that he is deeply saddened by the religious politics happening in the country and he also expressed his wish that he should have been in a country that believes in a particular religion.  He even talked about leaving his country.
 In these circumstances, such thoughts can come in the heart of any of us, but the question is, is leaving a proper solution?

 Let us understand this by an example.  Suppose you are stuck in some trouble or quagmire, although there is nothing like trouble, it is a situation created by us but still assume that if you are facing troubles, what will you do?  Surely you can have several options out of which two options would be the most effective.

 The first is that you get out of that trouble or swamp as soon as possible and go away.  This is what most of us would love to do.  We always run away from things just like that.
 At the same time, the other option may be that you solve that problem in a better way.  Even though we may not be fully prepared for it, we can still try.  But most of us would prefer to choose the first option.

 Many such incidents happen to all of us in which we often get sad but still what we think and do matters. Even though we think that we are not fully capable of doing something better.  But still the most important question in all these things is whether we really tried to do better or not?

 Thank you !
Hindi Translation: नमस्कार, मुझे आशा है कि आप सभी अपने जीवन में अच्छा कर रहे होंगे।
जैसा कि मैंने अपने पहले blog में बताया था कि मेरी दिनचर्या कुछ ज्यादा व्यवस्थित नहीं थी। पर अब लगता है कि जैसे वह खुद ही खुद को बेहतर तरीके से व्यवस्थित कर रही है जिसके कारण मैं आजकल जल्दी उठ पा रहा हूं। भले ही उठने के बाद मैं ज्यादा कुछ प्रोडक्टिव नहीं कर पा रहा पर फिर भी मैं कुछ अच्छा करने की कोशिश कर रहा हूं।

हिंदी के एक महान कवि, डॉ हरिवंशराय बच्चन जी ने भी अपनी कविता ने कहा है कि "कोशिश करने वालों की हार नहीं होती।" हालांकि हम पूरी कविता पर बात नहीं करेंगे, इसका शीर्षक ही बहुत कुछ स्पष्ट कर रहा है।
अब आप सोच रहे होंगे कि मैं आखिर यह सब आपको क्यों बता रहा हूं, आखिर आपका इससे क्या लेना देना। पर लेना-देना है पूरी तरह से है।
चलिए मैं आपको एक किस्सा सुनाता हूं। आज दोपहर को मेरी बात एक करीबी मित्र से हो रही थी। उनका कहना था कि वह देश में हो रहे धार्मिक राजनीति से अत्यधिक दुखी हैं और उन्होंने यह भी इच्छा जाहिर की कि उन्हें किसी एक खास धर्म को मानने वाले देश में होना चाहिए था। यहां तक कि उन्होंने अपने देश को छोड़ देने तक की बात की। इन हालातों में ऐसे विचार हम में से किसी भी व्यक्ति के हृदय में आ सकते हैं पर सवाल यह है कि क्या  छोड़ जाना ही एक उचित उपाय है?

चलिए हम इसे एक उदाहरण द्वारा समझते हैं। मान लीजिए कि आप किसी मुसीबत या दलदल में फंसे हैं हालांकि मुसीबत जैसा कुछ नहीं होता यह हमारे द्वारा खुद की बनाई हुई एक परिस्थिति है पर फिर भी मान लेते हैं कि आप मुसीबतों से जूझ रहे हैं तो आप क्या करेंगे? निश्चित रूप से आपके पास कई विकल्प हो सकते हैं जिनमें से दो विकल्प सबसे ज्यादा प्रभावी होंगे।

पहला यह की आप जितना जल्दी संभव हो उस मुसीबत या दलदल से निकल कर कहीं दूर चले जाएं। हम में से ज्यादातर लोग यही करना पसंद करेंगे। हम हमेशा चीजों से बस यूं ही भागते रहते हैं। 
वहीं इसका दूसरा विकल्प यह हो सकता है कि आप उस मुसीबत को एक बेहतर तरीके से हल करें। भले ही हम शायद पूर्ण रूप से इसके लिए तैयार ना हों पर फिर भी हम कोशिश तो कर सकते हैं। परंतु हम में से ज्यादातर लोग पहला विकल्प ही चुनना पसंद करेंगे।

हम सभी के साथ ऐसी कई घटनाएं घटित होती हैं जिनमें अक्सर हम दुखी हो जाते हैं पर फिर भी हम क्या सोचते और करते हैं यह मायने रखता है। भले ही हम यह सोचते हों कि कुछ बेहतर करने के लिए हम पूर्ण रूप से सक्षम नहीं हैं पर फिर भी इन सभी बातों में सबसे जरूरी प्रश्न यह है कि क्या वास्तव में हमने बेहतर करने की कोशिश की या नहीं?
धन्यवाद !

Yogesh Maurya

Author & Editor

Hi! I introduce myself as Yogesh Maurya and I'm still a student. I'm little complecated. In short, "It is not possible for everyone to read me... I'm the book in which emotions are written instead of words..."

15 komentar:

Please do not enter any spam link in the comment box.